SLV, ASLV, PSLV, GSLV full form

21वी सदी Science & Technology का समय है, जिसने मनुष्य के जीवन को अधिक सरल, उन्नत और व्यवहरु बना दिया है। विज्ञान और टेक्नॉलजी की प्रगति मे अवकाश विज्ञान के भारतीय संगठन ISRO का मुख्य भाग है।

यदि आपको नहीं पता है तो चिंता करने की बात नहीं है,हम इसरो द्वारा बनाए गए SLV, ASLV, PSLV,GSLV के फूल फॉर्म (gslv full form) और सारी माहिती विस्तार से बताएंगे।

SLV full form and meaning

SLV का फूल फॉर्म Satellite Launch Vehicle होता है। इसका हिन्दी मे अर्थ उपग्रह प्रक्षेपित वाहन होता है। प्रक्षेपित वाहन का उपयोग उपग्रह को अवकाश मे प्रक्षेपित करना होता है।

slv full form
slv full form

SLV(Satellite Launch Vehicle) की मदद से 18 july, 1980 के दिन “रोहिणी उपग्रह RS 1” को प्रस्थापित किया गया था। इस प्रोजेक्ट का नेतृत्व Dr. A.P.J. Abdul Kalam ने किया था।

ASLV full form and meaning

ASLV का फूल फॉर्म “Augmentation Satellite Launch Vehicle” होता है। इसका हिन्दी मे अर्थ आवर्धक उपग्रह प्रक्षेपित वाहन होता है।

aslv full form
aslv full form

ASLV दूसरे जनरेशन का प्रक्षेपणयान था। इनमे solid प्रकार के ईंधन का उपयोग 5 स्टेज मे किया जाता था। ASLV का कुल वजन 40 टन और ऊंचाई 24 मीटर तक थी।

PSLV full form and meaning

PSLV का फूल फॉर्म “Polar Satellite Launch Vehicle” होता है। इसका हिन्दी मे मे फूल फॉर्म ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपित वाहन होता है।

pslv full form
pslv full form

ISRO द्वारा सबसे ज्यादा उपयोग मे लिए जाने वाला लॉन्च विहीकल PSLV ही है। PSLV को मिड, 2020 तक 50 बार उपयोग मे लिया गया है। इनमे यह केवल 2 बार ही नाकाम रहा है।

हमने PSLV के बारेमे जान लिया, अब हम इनके बड़े-बड़े मिशन जानते है।

PSLV के महत्वपूर्ण मिशन

PSLV की प्रथम उड़ान का रॉकेट का नाम PSLV-D1 था। यह September 20, 1993 की गई थी, लेकिन यह नाकाम रही थी। सफल उड़ान 15 oct. 1994 को PSLV-D2 था।

PSLVतारीख महत्वपूर्ण माहिती
PSLV-C2may,1999प्रथम उड़ान जिसमे 3 उपग्रहो का सफलतापूर्वक प्रक्षेपित किए गए थे
PSLV-C8april,2007इसरो की प्रथम वाणिज्य विदेशी उपग्रह के साथ उड़ान। उपग्रह:AGILE(इटली)
PSLV-C1122/oct/2008चंद्रयान -1 मिशन (successful)
PSLV-C22july. 2013NAVIK श्रेणी का प्रथम उपग्रह IRNSS-1 A का सफल प्रक्षेपण (NAVIK-भारत की अपनी GPS जैसी सिस्टम)
PSLV-C255 nov. 2013भारत का प्रथम मंगल मिशन (सफल)
PSLV-C30sep. 2015भारत की प्रथम वेधशाला “ASTROSAT” का सफल प्रक्षेपण
PSLV-C3715feb-2017यह दिन प्रत्येक भारतीयो के लिए महत्वपूर्ण था क्युकी इस दिन इसरो ने PSLV-C37 रॉकेट के जरिए एक साथ 104 उपग्रहों को छोड़ के विश्व रिकार्ड बनाया था।
PSLV-C40jan. 2018इसरो का 100 वा उपग्रह सफलता पूर्वक लॉन्च हुआ था
PSLV-C43Nov. 2018HysIS उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
PSLV-C48Dec 11,2019RISAT-2BR1 उपग्रह का सफलता पूर्वक प्रक्षेपण। यह radar imaging earth observation satellite है (50वी PSLVकी उड़ान)

GSLV full form and meaning

GSLV full form “GEOSYNCHRONOUS SATELLITE LAUNCH VEHICLE” होता है। इसका हिन्दी मे मे फूल फॉर्म “भू-तुल्यकाली उपग्रह प्रक्षेपण वाहन” होता है।

GSLV full form
GSLV full form

Types of GSLV (GSLV full form)

GSLV रॉकेट को 3 प्रकार मे बाटा गया है:

  1. GSLV MK-1
  2. GSLV MK-2
  3. GSLV MK-3

GSLV MK-1

  • रूस द्वारा क्रायोजेनिक इंजन का उपयोग
  • 1(a) पैलोड क्षमता 1500 kg
  • 1(b) पैलोड क्षमता 1900 kg

GSLV MK-2

  • भारत के स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन का उपयोग
  • पैलोड : 2500kg (GTO कक्षा), 5000kg (LEO कक्षा)

GSLV MK-3

  • बाहुबली रॉकेट और LVM-3 नामसे प्रख्यात
  • 600km तक 8000kg पैलोड को स्थापित कर सकता है

तो चलिए GSLV के कुछ सफल मिशन के बारेमे पढ़ते है।

GSLV के महत्वपूर्ण मिशन

GSLV ने प्रथम उड़ान 18 अप्रैल 2001 को भरी थी। इसने अभी तक 13 जीतनी उड़ान की है इनमे 9 सफल और 3 असफल रही है। इनमे से मुख्य उड़ाने …

RSV full form

RSV का full form Reusable Launch Vehicle होता है। यह आगामी समय का advance विहीकल माना जा रहा है।

reuse होने की वजह से करोड़ों का खर्चा बच जाएगा।

हमने अब तक SLV, ASLV, PSLV, GSLV full form और अन्य माहिती पढ़ी। तो थोड़ी सी इसरो के बारेमे जान लेते है।

ISRO का फूल फॉर्म और माहिती

इसरो की माहिती संक्षिप्त मे:

isro details
isro details
ISRO फूल फॉर्म Indian Space Research Organisation
स्थापना 15 August, 1969
मुख्यालय बैंगलुरु,भारत
वर्तमान अध्यक्ष डॉ. के. सिवान
प्रथम अध्यक्ष डॉ. विक्रम साराभाई
किस विभाग के नीचे अंतरिक्ष विभाग
श्रेणी अंतरिक्ष एजेंसी
सालाना बजेट ₹13,479.47 crore
आधिकारिक वेबसाईटhttps://www.isro.gov.in/

इसरो की स्थापना एवं इतिहास

भारत ऐसे देश मे सामील है जिसने 20सदी के मध्य से ही अंतरिक्ष के क्षेत्रो मे कार्य करके भविष्य की पेढ़ी को बहुत कुछ दिया है। इनमे इसरो जैसी संगठन ने विश्व मे चार चाँद लगा दिए है।

आजादी के बाद साल 1960 से इंडिया ने स्पेस रिसर्च की योजनाए बनना शुरू कर दिया था। वर्ष 1962 मे Department of Atomic ने महान भारतीय वैज्ञानिक “डॉ. विक्रम साराभाई” और “डॉ. रामनाथन” के नीचे एक कमिटी की रचना की गई थी।

इस समिति को INCOSPAR (Indian National Committee for Space Research) से जाना गया।

साल 1962 मे केरल के थिरुवनंतपुरम के नजदीक “थुंबा” नामक स्थल पर TERLS (Thumba Equatorial Rocket Launching Station) की स्थापना की गई थी। इस जगह पर रॉकेट लॉन्च किए जाते थे।

इसरो के कार्यक्रमो को तेजी देने के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्रि श्रीमती इंदिरा गांधी ने 1972 मे “Department of Space” और “Space Commission” बनाया गया था, ताकि भारतीय अवकाश कार्यक्रम तेजी से हो सके।

अंतिम शब्द

इस पोस्ट मे हमने GSLV full form और इनकी मुख्य माहिती, इसरो का फूल फॉर्म, इसरो की स्थापना और सेंटर जाने।

आपको इनके बारेमे और कुछ पूछना है, तो नीचे comment जरूर करे, हम इसका अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर भी जरूर share करे।

Leave a Comment