RTO full form | RTO officer kaise bane? | RTO के कार्य

विश्व मे बहोत सारे क्षेत्र मे बदलाव आ रहा है इनमे से एक परिवहन क्षेत्र भी है। लेकिन कभी आपने यह सोचा है की यह वाहनों की संख्या भारत मे कितनी है?

यह वाहनों को कहा पंजीकृत किया जाता होगा?, यह वाहनों को कौन पंजीकृत करते है? इन सब का कॉमन उत्तर है RTO।

तो दोस्तों आजके आर्टिकल मे हम RTO full form क्या है?, RTO full form in hindi, RTO अधिकारी कैसे बने?, RTO के कार्य, आदि जानने वाले है।

RTO full form

RTO का फूल फॉर्म “Regional Transport Office” होता है। इसके कार्यालय हमारे देश के सभी जिलो में पाए जाते है और इन सभी को अपना एक Code दिया जाता है।

इस जगह ही भारत का वाहन उपभोक्ता अपने गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन करवाते हैं। यदि हम गाड़ियों को कुछ दिन चलने के बाद हम उसे बेचते हैं तो उसके पेपर का ट्रांसफर भी इसी कार्यालय के द्वारा किया जाता है।

भारत मे प्रत्येक RTO कार्यालय मोटर वाहन अधिनियम, 1988 कानून में रखे गए कार्यों और गतिविधियों को पूरा करने के लिए जुड़ा हुआ है।

RTO full form in Hindi

RTO का हिन्दी भाषा मे फूल फॉर्म “क्षेत्रीय परिवाहन कार्यालय” होता है। इसके अर्थ से पता चलता है की किसी परिवहन क्षेत्र का मुख्य कार्यालय है।

RTO full form in hindi
RTO full form in hindi

हमारे देश मे मोटर वाहन अधिनियम, 1988(केन्द्रीय कानून) की धारा 213 (1) के नीचे “मोटर वाहन विभाग” बनाया गया था। मोटर वाहन विभाग इस अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों को लागू करने के लिए जिम्मेदार है। इसका नेतृत्व परिवहन आयुक्त द्वारा होता है।

RTO ke kary kaunse hai?

यदि आप विहीकल रखते हो तो आपको RTO के कार्य जानना जरूरी है क्युकी किसी भी व्यक्त इसकी आवश्यकता पड़ सकती है। इसके मुख्य कार्य नीचे मुजब है:

वाहन का पंजीकरण करना

किसी भी जगह बिना नम्बर प्लेट की गाड़ी चलाना कानूनन जुर्म है। यह नंबर प्लेट लगाने की सुविधा RTO कार्यालय मे होती है और यहा पर ही आपके विहीकल को पंजीकृत किया जाता है।

इसके सिवा यह वाहनों के रजिस्ट्रेशन कब हुआ तथा नये रजिस्ट्रेशन करने का काम भी करता है, अगर बिना नंबर की कोई गाड़ी देखता है तो उसके बारे में पूछताछ भी करता है उसका चालान भी दे सकता है।

ड्राइविंग लाईसन्स

ड्राइविंग लाईसन्स प्रत्येक वाहन चालक के पास होना जरूरी है, इनमे 2 से हेवी विहीकल भी सामेल है। यह ड्राइविंग लाईसन्स rto द्वारा दिया जाता है।

यह लाइसेंस आप कंप्युटर और ड्राइविंग टेस्ट सफलतापूर्वक पास करते हो तो आप को यह मिल सकता है।

वाहन विमा

यहा पर वाहनों के बीमा यानि Insurance का काम भी किया जाता है और आपको अपनी गाड़ी का बीमा कराना है तो RTO से संपर्क कर सकते है।

प्रदूषण टेस्ट

यदि आपका वाहन ज्यादा प्रदूषण फैलता है तो आपको चिंता करने की जरूरत है क्युकी RTO ऑफिसर आपके वाहन का लाइसेंस रद कर सकते है। इसके सिवा यह गाड़ियों का pollution level टेस्ट भी करते है।

अब हम जानते है की RTO मे कौनसे पद(post) होते है और इस पोस्ट को कैसे हासिल करे।

RTO के पद (post)

RTO मे तीन तरह की Post होती है।

  • Clerical Or Clerk Post
  • (Sub) Assistant Engineer Post
  • Judicial Post

RTO ऑफिसर कैसे बने?

rto officer kaise bane

राज्य सरकार इस पद के लिए वैकन्सी निकालती रहती है इसलिए सबसे पहले इसके लिए आवेदन करना पड़ेगा। इसके लिए आवेदन करना बहुत ही आसान है। Rto Officer Exam में पास होने के लिए आपको 2 परीक्षाएं देनी होती है और उसके बाद आपका Interview भी होता है। जिसे आपको पास करना होता है।

लेकिन क्लर्क जैसी इग्ज़ैम मे इंटरव्यू नहीं होता।

लेखित परीक्षा

सबसे पहले आपकी Written Exam होती है। यह परीक्षा 2 घंटे की होती है। इसका Paper 200 Marks का होता है और इसमें इन विषयों पर विभिन्न तरह के सवलों होते है।

हमने नीचे इस प्रश्नपत्रों के विषयों की सूची दी है:

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वर्तमान घटनाक्रम (National And International Current Events)
  • भारत का इतिहास (History Of India)
  • भूगोल (Geography)
  • आर्थिक और सामाजिक विकास (Economic And Social Development)
  • पर्यावरण और पारिस्थितिकी (Environment And Ecology)
  • सामान्य विज्ञान (General Science)
  • अंग्रेजी भाषा (English Language)

शारीरिक टेस्ट

लिखित परीक्षा के बाद आपका Physical Test होता है और इसमें आपका शरीरिक रूप से तंदूरस्त रहना जरूरी है।

साक्षात्कार

ऊपर दोनों टेस्ट मे मे सफल होने के बाद आपका Interview होगा। जिसमें आपकी बुद्धि, क्षमता, मूल्यों और गुणों के आधार पर आपको जांचा जाता है और आपसे कुछ सवाल किये जाते है। इसमें पास होने के बाद आपको Rto Officer के लिए चुन लिया जाता है।

RTO Officer Ke Liye jaruri Yogyata

आरटीओ ऑफिसर बनने के लिए Applicant को 10 वी पास होना चाहिए और अगर आप इसमें और भी High Post प्राप्त करना चाहते है तो आपको Recognized University से Graduation पास होना चाहिए तथा Rto अधिकारी के लिए महिलाएं और पुरुष दोनों ही आवेदन कर सकते है।

qualification

कुछ पोस्ट मे ओन्ली इंजीनियरिंग या पॉलीटेकनिकल के मकैनिकल या ऑटमोबाईल के छात्रों को लिया जाता है।

इसके लिए आपकी आयु सीमा लगभग 21 से 30 साल तक के बीच होना चाहिए। Obc उम्मीदवारों के लिए 3 साल तक की छूट है। और Sc/St के आवेदकों को 5 साल की छूट दी जाती है।

RTO Officer बनने का अभ्यासक्रम क्या है?

किसी भी परीक्षा पास करनी हो तो उसका syllabus जानना जरूरी है। हमने नीचे RTO अधिकारी बनने का अभ्यासक्रम दिया है।

General Knowledge
General State Language
General English
General Studies
Optional Subject

RTO अधिकारी की तनख्वाह

इनकी पोस्ट के आधार पर इन्हे सैलरी मिलती है। इनकी तनख्वाह काफी अच्छी मानी जाती है। यह rs. 20,000 से 40,000 के बीच होती है।

अब हम भारत के राज्य के मुताबित RTO कोड देखेंगे।

राज्यों के मुताबित RTO कोड्स

हम सबने वाहनों पर छपे नंबर तो देखे होंगे, वो नंबर इस प्रकार से होते है की अगर कोई भी आर टी ओ कोड के बारे में जानता है तो ये पता लगा सकता है की उक्त गाड़ी कोंसे राज्य और जिले से है।

क्रम राज्यों के नामRTO Code
1Andhra PradeshAP
2Arunachal PradeshAR
3AssamAS
4BiharBR
5ChhattisgarhCH
6GoaGA
7GujaratGJ
8HaryanaHR
9Himachal PradeshHP
10Jammu and kashmirJK
11JharkhandJH
12KarnatakaKR
13KeralaKL
14Madhya PradeshMP
15MaharashtraMH
16ManipurMN
17MeghalayaML
18MizoramMZ
19NagalandNL
20OdishaOD
21PunjabPB
22RajasthanRJ
23SikkimSK
24Tamil NaduTN
25TripuraTR
26UttarakhandUK
27Uttar PradeshUP
28West bengalWB
29Andaman and Nicobar IslandsAN
30ChandigarhCH
31Dadra and Nagar HaveliDN
32Daman and DiuDD
33DelhiDL
34LakshadweepLD
35PondicherryPY

RTO के वर्ल्ड वाइड full form लिस्ट

RTO full form list
Radio Transmission Operator
Radio/Telephone Operator
Rail Transportation Officer
Railway Traffic Officer
Range Training Officer
Rapid Thermal Oxidation
Ready to Order
Real-Time Output
Really Terrible Orchestra
Reconnaissance Tasking Order
Recovery Time Objective
Recruit Training Officer
Recruit Training Order
Regenerative Thermal Oxidizer
Regimental Tactical Officer
Regimental Training Officer
Regional Tourism Organization
Regional Training Office
Regional Transport Office
Regional Trial Court
Registered Training Authority
Registered Training Organisation
Rejected Take-Off
Release to Operations
Remote Transcoder Operation
Reno-Tahoe Open
Rent-To-Own
Representative Task Order
Request Time Off
Request to Operate
Request to Order
Residents Technical Office
Responsible Test Organization
Retro Toaster Oven
Return Timed Out
Return to Office
Return to Operations
Return to Output
Returned to Owner
Reverse Take-Over
Reverse Tool Order
Right Turn Only
Road Transport Office
Run-time object

अंतिम बात

इस आर्टिकल मे हमने RTO full form क्या है?, RTO full form in hindi, RTO अधिकारी कैसे बने?, RTO के कार्य आदि समजा।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको RTO फूल फॉर्म के बारेमे और कुछ पूछना है तो नीचे comment जरूर करे, हम इसका अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर भी जरूर share करे।

Leave a Comment