PNG, CNG and LPG full form| इनके बिचका तफ़ावत हिन्दी मे

हम CNG, LPG और PNG जैसे गैस का उपयोग घरेलू जीवन मे करते है। इन गैस का उपयोग हम घर, फैक्टरी, मोटरसाइकिल, कार, बस आदि जगह पर करते है।

लेकिन आपको क्या इन गैसो का फूल फॉर्म पता है?, इनका उपयोग कहा होता है?, इनके बिचका तफ़ावत क्या है?, इनके फायदे क्या है? ऐसे कई सारे सवालों आपके दिमाग मे घूम रहे होंगे।

GRPF and RPF full form

तो प्रिय वाचक हम इस आर्टिकल मे हम PNG, CNG and LPG full form क्या होता है?, गैस के प्रकार, CNG के फायदे और नुकसान, इनके बिचका तफ़ावत जानेंगे तो आप इस पोस्ट को अंत तक पढे ताकि सारे doubt हल हो जाए।

PNG, CNG and LPG full form क्या है?

आमतौर पर दो प्रकार के गैस पाए जाते है :

  1. Natural Gases
  2. Petroleum Gases
CNG and LPG gas

Petroleum Gases

जमीन या पानी मे खुदाई के दौरान petroleum के साथ जोभी गैस मिलती है इसे पट्रोलीयम गैस कहते है । इन petroleum गैस मे LPG आता है ,जिसमे मुख्यत: “प्रोपेन और ब्यूटेन” गैस होते है।

LPG का फूल फॉर्म Liquefied Petroleum Gas or Liquid Petroleum Gas है। इस गैस को “ईंधन गैस या रसोई गैस” नामसे भी जाना जाता है।

LPG full form in Hindi

LPG को हिन्दी मे द्रवित पेट्रोलियम गैसकहते है।

इस गैस को घरों में खाना पकाने, गरम करने वाले कुछ डिवाइस, कुछ वाहनों में इंधन के स्वरूप में, शीतलक (रेफ्रिजिरेन्ट) के रूप में क्लोरोफ्लोरो कार्बन के स्थान पर ऐसे कई जगहों पर उपयोग किया जाता है।

Natural Gases

इस natural gas को हिन्दी मे प्राकृतिक गैस कहते है। इनमे कई सारे गैस मौजूद होते है,लेकिन इनमे मिथेन की मात्र ज्यादा होती है।

PNG full form Gas

PNG का फूल फॉर्म Piped Natural Gasहोता है। जो गैस हमारे घरों मे पाइप के द्वारा आते है इसे PNG कहते है।

CNG प्राकृतिक गैस ही है। यह गैस रंगहीन, गंधहीन और विषहीन होती है। तो अब हम CNG का फूल फॉर्म जानते है।

CNG full form in Hindi and English

CNG का फूल फॉर्म “Compressed Natural Gas” होता है।

CNG का हिन्दी मे फूल फॉर्म संपीडित प्राकृतिक गैस”होता है। यह गैस हवा से भी हलकी होती है इसी वजह से यह किसी भी बेलनाकार पात्र मे फिट हो जाती है। इसे 200 से 250 किलोग्राम प्रति सेमी वर्ग तक दबाया जा सकता है।

CNG मे मिलने वाले पदार्थ

CNG एक natural गैस है इसलिए इनमे मिथेन (CH4) की मात्रा ज्यादा पाई जाती है, इसलिए यह रंगहीन, गंधहीन और विषहीन होता है। इस गैस मे नाइट्रोजन ऑक्साइड 85%, रीऐक्टिव हैड्रॉकार्बन 70%, जबकी इनमे लेड और सल्फर नहीं होते । यह गैस ज्यादा उपयोग मे लिए जाने की वजह है यह प्रकृति को ज्यादा नुकशान नहीं करता।

सीएनजी कहा इस्तेमाल होता है?

हम सबको पता ही है की दुनिया मे कितना सारा प्रदूषण फैल चुका है और इससे भी ज्यादा फैल रहा है। इनमे मुख्यत: वाहन, फैक्टरी, electricity station से ज्यादा pollution फैल रहा है । वाहन से ज्यादा प्रदूषण न फैलाय इसलिए सब ईंधन का alternative CNG माना जा रहा है।

CNG का इस्तेमाल कार, बस, ऑटो, टैक्सी आदि मे किया जाता है। इसका ज्यादा उपयोग करने की वजह है पेट्रोल और डीजल से चलने वालों साधनों से यह कम प्रदूषण फैलता है। जिससे प्रकृति को कम नुकशान पहोचता है।

पर्यावरण पर इसका हकरात्मक प्रभाव के कारण केंद्र और राज्यों की सरकार इसे ज्यादा प्रमोट करने के लिए योजना, रेलिया, कार्यक्रम आदि करते रहते है। दिल्ली जैसे शहरों मे CNG वाले vehicle को ज्यादा उपयोग करने की सलाह दी जा रही है। आपको बता दे की Green Peace संस्था के मुताबीत दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी अपनी दिल्ली ही है।

बात अकेली डेली की नहीं है कानपुर, गुड़गाँव, वाराणसी, पटना, मुंबई, पुणे जैसे शहरों मे भी प्रदूषण बहोत ज्यादा है इसलिए यह शहरों मे CNG का इस्तेमाल करने पर ज्यादा कहा जाता है।

CNG गैस के फायदे कौनसे है?

advantages
  • यह गैस पेट्रोल और डीजल से सस्ता और पर्यावरण मे ज्यादा प्रदूषण भी नहीं फैलता है। इसलिए यह प्रकृति से काफी अनुकूल है। यह स्नेहक तेलों के जीवन को बढ़ाता है क्योंकि यह क्रैंककेस तेल को दूषित और पतला नहीं करता है।
  • यह गैस 540 degree सेल्सियस या अधिक का एक उच्च ऑटो इग्निशन तापमान प्रदान करता है।
  • CNG का सौप्रथम इस्तेमाल 18 शताब्दी के अंत में शुरू किया गया था और प्रथम प्राकृतिक गैस वाहन (NGV) को द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अमेरिका में पेटेंट कराया गया था।
  • यह गैस अन्य के मुकाबले सस्ती और हलकी है ।

हमने PNG, CNG and LPG full form जान लिया, अब हम CNG और LPG के बीच का तफ़ावत जानते है।

CNG और LPG के बिचका अंतर

CNG and LPG gas
CNGLPG
CNG प्राकृतिक गैस है । LPG पेट्रोलियम गैस है।
मुख्य गैस – मेथेन(CH4)मुख्य गैस – प्रोपेन , ब्यूटेन।
कार्बन की मात्रा कम होती है। कार्बन की मात्रा ज्यादा होती है।
हलकी गैस है । भारी गैस है।
प्रदूषण कम फैलती है। प्रदूषण ज्यादा फैलती है।
दुर्घटना की संभावना कम रहती है। दुर्घटना की संभावना ज्यादा रहती है।
उपयोग – two, three, four vehicle मे और ज्यादा तर बस मे । घरों मे ईंधन के रूप मे खाना पकाने के लिए।

अंतिम शब्द

चाहे कुछ भी हो पृथ्वी है तो हम है। तो दोस्तों प्राकृतिक स्त्रोतों को ज्यादा से ज्यादा उपयोग करे,तभीतों आगामी पेढ़ी को कुछ बहेतर दिया जा सकेगा।

इस पोस्ट मे हमने PNG, CNG and LPG full form क्या होता है?, गैस के प्रकार, CNG के फायदे, CNG मे मिलने वाले पदार्थ, CNG और LPG बिचका अंतर पढ़ा।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको CNG,PNG या LPG फूल फॉर्म के बारेमे पूछना है तो नीचे comment जरूर करे हम अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर अवश्य share करे।

Leave a Comment