OTT Platform Full Form: OTT meaning, Price, History

जबसे पूरी दुनिया मे lock-down लगा है तबसे वर्ल्ड की economy की हालत बहुत ही खराब हो गई है। इसमे से भारत की bollywood industry को भी इसका काफी असर हुआ है।

बड़ी बड़ी बेनर की फिल्म रिलीज होनी वाली थी लेकिन सरकार के निर्णय के मुताबीत भारत के सारे theater बंध हो गए है। इसे की साथ ही नया plateform मिला है जहा फिल्म release की जाएगी जिसे OTT plateform कहते है। इसके सिवाय OTT पे web series, Live streaming, video आदि सुविधा मिलती है।

तो इस आर्टिकल मे हम OTT Platform Full Form, OTT Platform क्या है ?,OTT Meaning, ओटीटी सर्विस के प्रकार, Top OTT Platforms in India, ओटीटी ऐप क्या है ? जानेंगे तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढे ताकि आपके सारे doubt दूर हो जाए।

OTT Platform Full Form

आज की दुनिया मे इंटरनेट और ऐसी बहुत सी आधुनिक टेक्नोलॉजी ने हमारे बहुत से कामों को करने का तरीका बदला है । पूरे विश्व मे OTT plateform लोकप्रिय तो है लेकिन भारत मे इसका उपयोग आजकल बहुत बढ़ गया है।

OTT Platform का फुल फॉर्म ”Over-The-Top ” होता है।

OTT full form in Hindi

OTT का फूल फॉर्म हिन्दी मे सबसे ऊपर होता है

इन्हे भी पढे

OTT Meaning

Lockdown मे आजकल कई फिल्में थिएटर की जगह OTT Apps या OTT Platform पर फिल्म के producer रिलीज कर रहे है। इसलिए यह शब्द को अभी अभी बहुत चर्चे मे है। तो दोस्तों जानते है की OTT meaning हिन्दी मे।

ott meaning

इंटरनेट के जरिए हम online या offline Video या अन्य Media Content का उपयोग करते है इसे OTT Platform कहते है।

हम मोबाईल, Computer, टैबलेट, TV(LCD) जैसे plateform पर इंटरनेट के जरिए हम OTT के जरिए video देख सकते है।

ज्यादातर ओटीटी शब्द का उपयोग Video On Demand Platforms के लिए किया जाता है, इसके अलावा OTT plateform को Audio Streaming , OTT Devices, VoIP Call, Communication Channel Messaging जैसे नाम से भी जाना जाता है।

भारत मे OTT का इतिहास

विडिओ स्ट्रीमिंग आने वाले समय मे इंटरनेट का बहुत बड़ा हिस्सा बनने वाला है लेकिन इसका इतिहास जानना जरूरी है। OTT का इतिहास बहुत पुराना नहीं है।इसे 21 sencury की खोज कह सकते है।

ott history

भारत मे OTT की शरुआत 2008 मे Reliance Entertainment ने ”BIGFlix” नामके प्लेटफॉर्म से की थी। यह भारत की प्रथम movie demand सर्विस थी। यह यूजर को फिल्म download और विडिओ स्ट्रीमिंग की सुविधा उपलब्ध करते थे, लेकिन यह service paid थी।

बाद मे 2010 मे ” nexGTV ”देश का पहेला OTT android and IOS मोबाईल एप था। जबकि वह 2G/3G मे चलता था इससे आप अंदाजा लगा सकते की इसकी video streaming कैसी होगी!!

OTT ज्यादा लोकप्रिय तब हुआ जब 2015 मे HOTSTAR लॉन्च किया गया और यह इंडस्ट्री lockdown की वजह से ज्यादा popular हुई है।

बाद मे जब जनवरी 2016 मे Netflixऔर Amazon prime video ने भारत मे entry की तब तो इसका ग्रोथ और बढ़ गया था। अभी भारत मे तकरीबन 40 जितनी बड़ी OTT सर्विस provider है।

2018 के fiscal year आँकड़े देखे तो OTT मार्केट का worth ₹2,150 crore (₹21.5 billion) था और इसका वैल्यू 2019 मे ₹35 billion तक बढ़ गया था । तो जब 2020 अंत मे इसके अंक आएंगे तब तकरीबन दो या तीन गुना हो गया होगा।

ओटीटी ऐप क्या है ?

OTT Apps द्वारा फिल्म, टेलीविजन, video स्ट्रीम दिखाया जाता है। जोकी लोगों के लिए उनकी मांग के अनुसार उपलब्ध किया जाता है या इसे उनकी आवश्यकता के अनुरूप बनाकर दीखाया जाता है।

ओटीटी Platform के प्रकार

OTT Platform के 3 प्रकार होते है।

Advertising Video on Demand ( AVOD )

इस ओटीटी platform विज्ञापन युक्त होता है। इस सर्विस मे हम सब लोग मुफ़्त मे सारा content देख सकते है इसलिए इस कंटेन्ट पर Video Ads दिखाई देती है।

Transactional Video on demand ( TVOD )

TVOD मे किसी फिल्म या टेलीविजन शो एक बार में देखने के लिए किराए पर दिए जाते है या खरीदने के लिए उपलब्ध होते है । इसका उदाहरण Apple iTunes ले सकते हो।

Subscription Video on Demand ( SVOD )

SVOD एक Paid Subscription है यानी की यह video streaming देखने के लिए पैसे देने पड़ते है। इस प्लेटफॉर्म Subscription के आधार पर अपनी सुविधा देते है और इसमें ओरिजनल कंटेंट मिलते है । इसके उदाहरण हम Netflix, Amazon Prime ले सकते है।

OTT सर्विस के फायदे

सबसे बड़ा फायदा यह है की OTT सर्विस बहुत ही सस्ती होती है। आप अपनी family के साथ फिल्म देखने theater जाएंगे तो तकरीबन Rs. 500 से 1000 प्लस अन्य खर्चे हो जाएंगे लेकिन OTT प्लेटफॉर्म मे सिर्फ 1 year का average Rs.999 का subscription(Netflix को छोड़के) ले लेते हो तो बहुत सारी फिल्म,वेब सीरीज,सॉन्ग्स, लाइव स्ट्रीमिंग जैसी सुविधा मिल जाएगी।

यह यूजर को विभिन्न प्रकार के Serials, Web Series, Sports, Movies, Live Tv, Documentary, Tv Show, Kids Show,audio, short film आदि देखने की सुविधा देते है। इनमेसे ज्यादातर प्लेटफॉर्म Paid Subscription या Membership Based सर्विस पर मिलते है।

इस प्लेटफॉर्म को उपयोग करने के लिए cabel कनेक्शन की जरूरत नहीं पड़ती सिर्फ एक app या site के जरिए मात्र इंटरनेट के जरिए आसानी से उपयोग कर सकते है।

tv या दूसरे प्लेटफॉर्म मे हम subtitle नहीं मिलते थे लेकिन इस प्लेटफॉर्म मे यह आसानी से मिलता है।

हमे TV के साथ DTH कनेक्शन या चैनल के पैसे देने पड़ते थे। लेकिन OTT के जरिए आप कंटेंट को विभिन्न प्रकार के डिवाइस जैसे स्मार्ट टीवी, स्मार्टफोन, टैबलेट आदि पर देखा जा सकता है ।

केवल मोबाईल एप के जरिए इसे किसी भी जगह जहा इंटरनेट मौजूद हो वहा उपयोग कर सकते है। हम विडिओ या औडियो को download करके इंटरनेट के बिना भी उपयोग कर सकते है।

OTT Apps मोबाइल, Smart TV मे और कंप्यूटर या लैपटॉप के जरिए भी इसे उपयोग मे ले सकते है। अब तो मार्केट मे नए device जैसे की Digital Media Players और Streaming Device जैसे Chromecast, Amazon Fire sticks, Apple TV के जरिए भी OTT Content देख सकते है।

भारत में ओटीटी प्लेटफॉर्म (OTT Platforms in India)

2020 मे भारत मे बड़े OTT प्लेटफॉर्म तकरीबन 40 है। यह संख्या बढ़ती ही जा रही है। 2019 मे इसका ग्रोथ वैल्यू ₹35 billion तक बढ़ गया है । भारत मे सबसे लोकप्रिय और टॉप OTT service provider आप नीचे देख सकते है।

ott in india
OTT service Provider कबसे भारत मे है।
Disney+ Hotstar2015
BIGFlix2008
Eros Now2015
Amazon Prime Video2016
Netflix 2016
ALTBalaji2017
The Viral Fever2012
ZEE52018
Voot 2016
MX Player2018
Sony Liv2013

OTT प्लेटफॉर्म के price

भारत मे यूजर पैसों को लेकर काफी संवेदनशील रहते है। इनमे से Amazon प्राइम, Hotstar, जी5 और Sony live जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्मों के सालाना सब्सक्रिप्शन की लागत Rs. 999 रुपये या इससे थोड़ी कम हो सकती है।

इनमे से हॉटस्टार VIP सिर्फ 35 रुपये महीना (यानी की साल के 365 रुपये) में आप उपयोग कर सकते है।यह subscription मे हम तमाम सीरियल्स के साथ हिंदी, तमिल और तेलुगू फिल्म जगत की सारी फिल्में भी देख सकते है।

सबसे महेंगा subscription Netflix का है। Netflix के subscription की price ₹ 199 से ₹ 799 प्रति month की है। इस सर्विस से हम smartphone, tablet, Smart TV, laptop, or streaming device मे देख सकते है।

अंतिम शब्द

OTT platform सबसे सस्ता तो है लेकिन इस कंटेन्ट मे गाली-गलोच, मर्डर,रैप, सट्टा जैसे वेब सीरीज का चलन ज्यादा रहता है, जिसकी वजह यह भी चर्चा चल रही है की युवाधन बिगड़ रहा है।

OTT प्लेटफॉर्म के कई लोग विरोध भी कर रहे है, इसलिए सरकार जल्द ही इसके लिए कानून लाने वाली है।

इस पोस्ट मे हमने OTT platform full form, OTT history in India, OTT Meaning, OTT सर्विस के फायदे, भारत में ओटीटी प्लेटफॉर्म जाना।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको OTT के बारेमे और कुछ पूछना है तो नीचे comment जरूर करे हम अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर share करना ना भुले

Leave a Comment