LCD ka full form:LCD उपयोग,LCD क्या है और कैसे कार्य करता है

हम सभी ने LCD को देखा होगा और इस्तेमाल भी किया होगा लेकिन बहुत कम लोगों को LCD ka full form पता होगा।

तो इस आर्टिकल मे हम full form of LCD, LCD क्या है और कैसे काम करता है?, LCD का इतिहास, LCD के प्रकार, LCD का principle, LCD के advantages, LCD के disadvantages, LCD applications आदि जानेंगे तो प्रिय वाचक अंत तक पढे।

LCD ka full form

LCD का फूल फॉर्म Liquid Crystal Display होता है। 

LCD full form in Hindi

LCD को हिन्दी मे द्रव क्रिस्टल प्रादर्शी कहा जाता है।

LCD construction(रचना)

LCD मे flat पैनल display technology का उपयोग किया जाता है। LCD टेलीविजन, कंप्युटर और लेपटॉप के मॉनिटर मे, मोबाईल और टैबलेट के स्क्रीन मे, Digital watches, Video players, Gaming devices, Digital Clocks और तकरीबन जो भी टच करने वाले electrical डिवाइस मे LCD का उपयोग किया जाता है।

LCD प्रकाश की उत्पत्ति या पैदा नहीं करता हे लेकिन जब इसमें इलेक्ट्रिक सिंग्नल दिया जाता है तब ये प्रकाश का मोड्युलेशन करता है।

LCD के construction में दो ग्लास सीट के बीचमे liquid crystal materials को सेंडविच के रूप अवस्थित किया जाता है। डिस्प्ले के ओप्टिकल ट्रांसमिशन के कंट्रोल करने के लिए indium-tin oxide का लेयर पारदर्शक धातु की सतह पर चढ़ा हुआ होता है। ये धृव या इलेक्ट्रोड की तरह व्यवहार करता है।

lcd construction
LCD Construction

इसके बाद transparent electrode पर ऑप्टिकल फिल्म की पतली पट्टी को अवस्थित किया जाता है। जो contrast ratios और viewing angles को बढ़ता है।

LCD कैसे कार्य करता है?

CRT (cathode ray tube) monitor से LCD डिस्प्ले अलग दिखाई देता है और उनके कार्य भी भिन्न होता है। कैथोड रे ट्यूब बहुत ही बड़े और भारी होते है जबकि LCD हल्के होते है।

एलसीडी मे back light ही लाइट भेजता है और सभी individuals pixels को rectangular grid के जैसे व्यवस्थापित किया जाता है। एलसीडी को ऑन और ऑफ किया जा सकता है और इसके लिए सभी ही पिक्सेल मे हरा, लाल और blue sub पिक्सेल होते है।

जब भी हम यह पिक्सेल के sub pixel को ऑन करते है तब ये सफेद दिखाई देगा और जब भी पिक्सेल के sub pixel को ऑफ करेंगे तो ये काला दिखाई देगा। मिलियन कलर combinations के लिए अलग अलग तरह के लाल, हरा और नीले लाइट को नियमित करना पड़ता है।

अब हम LCD इतिहास, LCD क्या है?, उनके फायदे और नुकसान के बारेमे विस्तार से जानते है।

LCD का इतिहास

Liquid Crystal Display को सौ प्रथम 1888 मे खोजा गया था। तबसे लेके आज तक इनमे बहुत सारे बदलाव हुए है। यह टेक्नॉलजी का उपयोग डिस्प्ले के रूप मे किया जाता है।

LCD क्या होता है?

LCD से बहुत सारे काम कर सकते है जैसे की प्रोग्राम का debugging करना, application status, display values आदि। यह Gas डिस्प्ले और LED से बहुत कम पावर लेती है। इसका बहुत कम पावर लेनेकी वजह है LCD blocking light principle पर काम करना। इनमे डिस्प्ले कैथोड रे ट्यूब के मुकाबले बहुत पतली होती है। LCD के तरह LED, Plasma मे भी पतली डिस्प्ले होती है।

एलसीडी को passive matrix से या active matrix display grid से बनाई जाती है। पैसिव मैट्रिक्ष एलसीडी मे जो भी ग्रिड ऑफ कन्डक्टर होते है वह सभी ही pixels के साथ वो ग्रिड के सभी intersection पर स्थित होते है और active matrix LCD को thin film transistor(TFT) डिस्प्ले होते है।

Active matrix LCD को आसानी से करंट को स्विच ऑन और स्विच ऑफ किया जा सकता है क्युकी किसी भी पीक्सेल्स के लिए यह करंट को ग्रिड पर 2 conductors के across भेज दिया जाता है और pixel को जलानेके लिए ऐक्टिव matrix मे सभी पिक्सेल intersection पर एक ट्रैन्ज़िस्टर होता है जिससे की उन पर करंट की जरूरत कम हो। लेकिन कुछ passive matrix मे dual scanning होता है यनी की यह grid दो बार स्कैन कर सकती है।

LCD का working Principle

जब क्रिस्टल सेल उत्तेजित होते है तब Liquid Crystal पारदर्शी बनते है और प्रकाश बिखरते हुए बिना सीधे से गुजरता है। जब Liquid Crystal सेल को उत्तेजित किया जाना है तो प्रकाश चारों ओर बिखर जाता है और क्षेत्र को प्रकाशित करता है।

Liquid Crystal को दो प्रकारो मे बाटा गया है:

  1. Transmittive type
  2. Reflective type

1.ट्रांसमिटिव प्रकार Liquid Crystal

इस प्रकार के Liquid Crystal में प्रकाश की उभार क्रिस्टल के तल पर होती है।
जब ट्रान्समिटिव Liquid Crystal उत्तेजित नहीं होते तब Liquid Crystal में प्रकाश direct(सीधा) गुजर जाता है। यह परिस्थिति में Liquid Crystal उत्तेजित नहीं होता और इसकी वजह से प्रकाशित भी नहीं होता जिसे आप आकृति में देख सकते हो।

लेकिन, जब Liquid Crystal उत्तेजित होता हे तब वह चारो दिशाओ में प्रकाश बिखर देता है इसी तरह Liquid Crystal प्रकाशित दिखाई देता है। जिसे आप आकृति मे देख सकते हो।

2.Reflective प्रकार Liquid Crystal

इस प्रकार का Liquid Crystal में निचे की तरफ प्रकाश के प्रतिबिंब के लिए प्रेरित है।
जब light source Liquid Crystal को touch करता है, तब Liquid Crystal refleted light के रूप मे प्रकाश को परावर्तित करता है और क्रिस्टल उत्तेजित नहीं होता। जिसे आप नीचे की आकृति मे देख सकते हो।

लेकिन, जब Liquid Crystal उत्तेजित होता है, तो प्रकाश चारों ओर बिखर जाता है। इसलिए Liquid Crystal निकलता हुआ दिखाई देता है। जिसे आप नीचे की आकृति मे देख सकते हो

LCD के प्रकार

LCD के दो प्रकार है।

  1. Dynamic Scattering Display(DSD)
  2. Field-effect display (FED)

1.Dynamic Scattering Display (DSD)

DSD मे layer ऑफ LC materials के साथ इन्हे glasses के दो टुकड़े मे sandwich कर दिया जाता है।

ग्लास के अंदर के faces मे transparent conductive coating मौजूद होता है और जैसे ही इनके अंदर वोल्टेज को डालते है तो Liquid Crystal मॉलिक्यूल्स अपने आप फिर से बन जाते है और अपने आप गति मे या जाते है।

2. Field Effect Display (FED)

इनमे इलेक्ट्रिकल excitation के 90डिग्री मे fluid मे जिस भी लाइट आती है वह फ्रन्ट पोलराइज़र से वह तकरीबन रीवाल्व हो जाती है।

LCD के लाभ

1.Brightness

इनमे images अच्छे से दिखाई देती है क्युकी यह high peak intensity होनी की वजह से।

2. Geometric Distortion

इनके पेनल मे नेटिव रेसोल्यूशन मे ज़ीरो geometric distortion दिखाई देता है।

3.Sharpness

इनके नेटिव रेसोल्यूशन मे images अच्छे से sharp बन जाते है।

4.Physical

यह फुट्प्रिन्ट छोटे होने की वजह से यह पतले नजर आते है इसलिए यह हीट काम करता है और कमसे कम electricity लेता है।

5. Screen Sharp

LCD मे डिस्प्ले पूर्ण रूपसे flat होता है।

LCD के नुकशान

  1. इसे आसानी से अँधेरे में नहीं देखा जा सकता हे।
  2. वे बहुत कम तापमान की सिमा में काम करते हे।
  3. यह विश्वशनीय नहीं हे।
  4. यह आकर में बड़ा होता हे।
  5. यह बहुत महंगा होता है।

LCD के APPLICATION

  1. टीवी में उपयोग किया जाता है।
  2. प्रोजेक्टर में इस्तेमाल किया।
  3. कंप्यूटर LCD मॉनिटर में उपयोग किया जाता है।
  4. कैलकुलेटर में इस्तेमाल किया जाता है।
  5. कलाई घड़ियों में इस्तेमाल किया जाता है।
  6. सात खंड प्रदर्शन में इस्तेमाल किया जाता है।
  7. अल्फा न्यूमेरिक डिस्प्ले में इस्तेमाल किया जाता है।

हमने LCD ka full form से लेके LCD के APPLICATIONS के बारे मे जाना अब हम LCD के वर्ल्ड वाइड फूल फॉर्म जानेंगे ।

LCD ka full form list Category  
Local Current Directory Networking  
Leadership and Career Development Business Career  
Lead Contaminated Dust Environmental  
Low-Cost Drifter Ocean Science  
Living Causes Death Health   
Launch CountDown NASA  
Large Cargo Door Aircraft & Aviation  
Local Coverage Determinations Unclassified  
Liters per Capita per Day Academic & Science  
Linearly Collimated Diffraction Unclassified  
Leveraged Commentary Data Unclassified  
Local Coverage Determination Sports  
Liquid Crystal Display Unclassified  
A Logically Coded Decimal Unclassified  
Low-Class Display Funnies   
Last Cup Distance Sports   
Loan Closing Date Mortgage  
Lithium Created Diode Unclassified  
Living Causes Death News   
Life-Changing Discipleship Religion  

Frequently Asked Questions

  1. what is the full form of LCD in English and Hindi ?

    LCD full form in English Liquid Crystal Display and in Hindi द्रव क्रिस्टल प्रादर्शी.

  2. LCD के applications क्या क्या है?

    टीवी में उपयोग किया जाता है।
    प्रोजेक्टर में इस्तेमाल किया।
    कंप्यूटर LCD मॉनिटर में उपयोग किया जाता है।
    कैलकुलेटर में इस्तेमाल किया जाता है।
    कलाई घड़ियों में इस्तेमाल किया जाता है।
    सात खंड प्रदर्शन में इस्तेमाल किया जाता है।
    अल्फा न्यूमेरिक डिस्प्ले में इस्तेमाल किया जाता है।

  3. LCD की खोज कब हुई थी?

    LCD सौ प्रथम 1888 मे खोज गया था।

  4. LCD और LED मे क्या तफ़ावत है?

    LCD टीवी मे FLUORESCENT light स्क्रीन के पीछे की तरफ होता है जबकि LED टीवी मे लाइट emitting diodes को स्क्रीन के पीछे की तरफ or around it edges रख दिया जाता है।

  5. LCD से होने वाले नुकसान का वर्णन कीजिए

    इसे आसानी से अँधेरे में नहीं देखा जा सकता हे।
    वे बहुत कम तापमान की सिमा में काम करते हे।
    यह विश्वशनीय नहीं हे।
    यह आकर में बड़ा होता हे।
    यह बहुत महंगा होता है।

इस पोस्ट मे हमने LCD ka full form, LCD kya hai aur iska kary kya hai?, LCD के फायदे, LCD के गेरलाभ, LCD के applications, LCD के प्रकार के बारेमे जाना।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको LCD के बारेमे पूछना है तो नीचे comment मे जरूर पूछ सकते हो। हम इसका अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर अवश्य share करे।

Leave a Comment