DCA ka full form kya hota hai? | DCA कोर्स क्या है?

आजकल विद्यालय या विश्वविद्यालय की डिग्री लेकर रोजगार की तलाश में भटकते हुए नवयुवक के चेहरे पर निराशा और चिंता का भाव होना कुछ ज्यादा ही दिखाई देता है।

ऐसे समय मे सही गाइडन्स और मार्ग ढूँढना मुश्किल हो जाता है। लेकिन आपको कंप्युटर और आईटी मे थोड़ी रुचि रखते हो तो हम आपको ऐसे ही एक कोर्स के बारेमे बताएंगे जिससे आपका जीवन बदल सकता है।

मित्रों हम DCA कोर्स की बात कर रहे है। जी हा दोस्तों इस कोर्स से आप अपना कंप्युटर और नेटवर्किंग क्षेत्र मे करियर बना सकते है।

लेकिन क्या आपको DCA ka full form क्या होता है?, dca कोर्स कब किया जाता है?, DCA कॉर्स करने के लिए क्या लायकत अनिवार्य है?, इस कोर्स के फायदे आदि पता है ? हम सब इस पोस्ट मे जानेंगे।

DCA ka full form क्या है?

DCA का फूल फॉर्म “Diploma in Computer Application” होता है। इस कोर्स को आप 12 पास बाद या डिप्लोमा के बाद कर सकते है।

इसमे मुख्य रूप से आपको कंप्यूटर एप्लीकेशन की पढाई कराई जाती है। जिससे विद्यार्थी को कंप्युटर की प्रोग्रामिंग, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के अलग अलग एप्लीकेशन के अलावा कई दूसरे सॉफ्टवेयर सिख सके।

DCA full form in Hindi

DCA का हिन्दी मे फूल फॉर्म “कंप्यूटर एप्लीकेशन में डिप्लोमा” होता है। नाम से ही पता चलता है यह कंप्युटर से सबंधित कोर्स है।

DCA course kya hai?

DCA एक कंप्यूटर कोर्स होता है और यह डिप्लोमा कोर्स जैसा ही होता है। जिन स्टूडेंट्स को कंप्यूटर फील्ड में रुचि होती है लेकिन कंप्युटर की ज्यादा जानकारी नहीं है ऐसे छात्रों के लिए यह कोर्स अच्छा माना जाता है।

DCA course kya hai
DCA course kya hai

क्युकी एकलौते इस कोर्स करने के बाद आप Programming language, Computer Graphics, Project management, Computer Language जैसे विषय आसानी से सिख कर अच्छी नौकरी ले सकते है या freelancing वर्क भी कर सकते है।

DCA ka syllabus kya hota hai?

इस कोर्स करने का आपने थान लिया है तो बहोत बढ़िया बात है, लेकिन इसके लिए इसका अभ्यासक्रम भी जानना जरूरी बनता है। हमने इसके सारे मुद्दे लिखे है जिसे आप नीचे पढ़ सकते है:

  • Computers introduction
  • C Programming details
  • Microsoft Office (MS Word, PowerPoint, MS Excel, Access)
  • DBMS (Database Management System)
  • Computer Graphics
  • Project Management
  • Principle of Programming
  • System Analysis and Design
  • Financial Accounting System
  • Basics of Operating Systems and Internet
  • Management Information Systems
  • System analysis and design
  • Software Engineering
  • Work processing and Spreadsheet
  • Unix operating system

DCA कोर्स करने के लिए जरूरी योग्यता(qualification) क्या है?

कोई भी विद्यार्थी Diploma in Computer Application यानी की DCA करना चाहता है इसे किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से अपना हाई स्कूल यानी कि 10+2 पूरा करना अनिवार्य है।

qualification-

यदि आप graduate हो तो भी इस कोर्स को कर सकते हो लेकिन इससे अच्छा PGDCA कोर्स करना चाहिए क्युकी यह कोर्स की वैल्यू DCA से ज्यादा होती है।

इसने 12 किसी भी स्ट्रीम से किया हो तो वह यह कोर्स कर सकता है। मुख्य बाबत यह है की इनमे कोई भी न्यूनतम मार्क्स आवश्यक नहीं होते।

जिस भी छात्र ने दसवीं कक्षा के बाद कंप्यूटर को अपने मुख्य या ऑप्शनल विषय के रूप में चुना है तो फिर उनके लिए यह कोर्स करना आसान और लाभदायी रहता है।

DCA के फायदे क्या है?

advantages
  • DCA कोर्स करने के बाद उम्मीदवार को सबसे बड़ा लाभ यह है की इससे उम्मीदवार को सरकारी, प्राइवेट, बैंकिंग, इंश्योरेंस, स्टॉक मार्केट फील्ड मे आसानी जॉब लेकर बढ़िया स करियर बना सकता है।
  • विद्यार्थी को Computer की Basic से लेकर Advance Knowledge मिल जाता है।
  • स्किल डेवलप होने से छात्र सरकारी एजेंसी जैसे – ऑनलाइन सेंटर, सेवा केंद्र, सरकारी कचेरी मे कंप्युटर वर्क की नौकरी कर सकता है।
  • कंप्युटर के मास्टर होने के बाद आप अपना Computer Center, Coaching Class, training centre आदि शुरू कर सकते है।

DCA कोर्स की फीस कितनी होती है?

DCA कोर्स की फीस Rs. 5000 से लेकर 20000 तक हो सकती है इसे ज्यादा भी हो सकती है, depend करता है आप किस इंस्टिट्यूट से यह कोर्स कर रहे हो।

DCA कोर्स करने के बाद कौनसी नौकरी मिल सकती है?

यह कोर्स पूरा कर लेने के बाद विद्यार्थी के पास जॉब की opportunity बढ़ जाती है। यह छोटे से बड़े कंप्यूटर ऑपरेटर वह किसी भी कार्यालय में अलग अलग पदों में आसानी से काम कर सकता है।

हमने नीचे फील्ड वाइस बताया है जिसे आप पढ़ सकते है:

Database Development & Administration के रूप मे

एक डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर एक्सप्रेस लाइव सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर होता है जो डाटा को सुरक्षित रखने के लिए सभी एक्टिविटी स्कोर करता है जिससे कि सुरक्षित डेटाबेस इन्वायरमेंट बना सके।

इसका मुख्य कार्य डेटाबेस इंटीग्रिटी को बनाए रखना और डाटा को अनऑथराइज्ड एक्सेस से सुरक्षित रखना होता है।

Networking & Internetworking field के रूप मे

जिस भी बड़ी कंपनियां और बैंक अपने खुद का एक सर्वर रूम रखते हैं जिसे हम आईटी रूम के भी नाम से जानते हैं यहां पर कुछ नेटवर्क ऑपरेटर की जरूरत पड़ती है जो यह सारा काम कंट्रोल कर सके इस फील्ड मे आप को जॉब मिल सकती है।

Programming – Development tools, languages मे

जोभी कंप्युटर मे भाषये होती है यह सब बड़े बड़े प्रोग्रैमर ही लिखते है। इसके लिए इसका ज्ञान होना आवश्यक है।

c++,java, PHP, python जैसी computer language सीखके आप अच्छी नौकरी ले सकते है या अपनी खुदकी भी कंपनी खोल सकते है।

Software designer और engineer के रूप मे

आज की दुनिया डिजिटल बनती जा रही है इसमे स्मार्ट फोन और लैपटॉप की संख्या भी काफी बढ़ती जा रही है जिससे इस्तेमाल की जाने वाले सॉफ्टवेयर नए-नए बनाए जा रहे हैं।

इसके लिए सॉफ्टवेयर डेवलपर और आईटी फील्ड के इंजीनियर के रूप मे आप अपना करियर बना सकते है।

Web/E-commerce developer बनके

जबसे JIO आया है तबसे भारत मे इंटरनेट के उपभोक्ताओ की संख्यामे काफी बढ़ोतरी आई है। ऐसे मे आप web डेवलपमेंट की सुविधा देके अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

यदि आप अपना फ्लिपकार्ट, ऐमज़ान, ebay , olx जैसा e-commerce वेबसाईट भी बना सकते हो या अपने क्लाइंट के लिए बना के पैसा कमा सकते हो।

DCA बाद कितनी सैलरी मिल सकती है?

इस कोर्स करने के बाद depend करता है की आप ने किस विषय मे mastery हासिल की है, हमने थोड़ी research करके कुछ विषय मे अंदाजीत मिलने वाली रकम दिखाई है:

salary-
  • अकाउन्टन्ट को मिलने वाली सालाना सैलरी – Rs. 1.5 से 3.5 लाख तक
  • कंप्युटर ऑपरेटर को मिलने वाली सालाना सैलरी – Rs. 2 से 3 लाख तक
  • C++ developer को मिलने वाली सालाना सैलरी – Rs. 3.5 से 7 लाख तक
  • वेब डिज़ाइनिंग को मिलने वाली सालाना सैलरी – Rs.5 से 10 लाख तक
  • सॉफ्टवेयर developer को मिलने वाली सालाना सैलरी – Rs.2 से 8 लाख तक

अंतिम शब्द

यदि आप कंप्युटर मे रुचि रखते हो तो आपको DCA के बाद करियर बनाने का सुनहरा मौका मिलेगा। तो मै आशा रखता हु की आप इसे नहीं छोड़ेंगे।

इस पोस्ट मे हमने DCA ka full form क्या होता है?, dca कोर्स कब किया जाता है?, DCA कॉर्स करने के लिए क्या लायकत अनिवार्य है?, इस कोर्स के फायदे आदि समजा।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको DCA फूल फॉर्म के बारेमे पूछना है तो नीचे comment जरूर करे हम अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर अवश्य share करे।

Leave a Comment