CM and PM full form in Politics | PM और CM माहिती हिन्दी मे

भारत को विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के रुप में जाना जाता है और यह एक लोकतांत्रिक और गणतांत्रिक देश है जहाँ देश की जनता को देश की बेहतरी के लिये फैसले लेने का अधिकार है। ऐसे कई सारे पद है जिन्हे नागरिको द्वारा चुना जाता है।

जिस पद को आम नागरिको द्वारा चुना जाता है इनमे MLA and MP, सरपंच, पंचायत/नगरपालिका और महानगरपालिका के सभ्यो, लेकिन CM, PM, DyCM, मिनिस्टर आदि को हम डायरेक्ट चुन नहीं सकते।

लेकिन क्याआपको इनके फूल फॉर्म पता है? यह इस स्थान कैसे पहोनचते है? यदि नहीं पता तो चिंता करने की कोई बात नहीं है।

हम इस आर्टिकल मे CM and PM full form क्या होते है?, CM और PM किसे कहते है?, CM एण्ड PM कैसे बनते है?, भारत के वर्तमान राज्यों के CM की सूचीया, CM का अर्थ, PM का अर्थ आदि जानेंगे।

CM kA full form and Meaning

CM का फूल फॉर्म “Chief Minister” होता है। CM का हिन्दी भाषा मे फूल फॉर्म मुख्यमंत्री होता है।

cm ka full form
cm ka full form

वर्तमान मे भारत मे 28 राज्यों और 3 केंद्र-शासित प्रदेशों(दिल्ली, पुदुचेरी, जम्मू-कश्मीर) मे मुख्यमंत्री पद की जोगवाई भारतीय संविधान मे है।

CM कैसे बनाए जाते है?

भारत मे सभी राज्यों की राज्य विधान सभा चुनावों के बाद उसी राज्य के राज्यपाल(governor) सामान्यतः सरकार बनाने के लिए बहुमत वाले दल या( गठबंधन) को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करता है।

बहुमत वाला दल या बहुमत ना हो तो गठबंधन करके पार्टी के सभ्यो के मर्जी के आधार पर 1 व्यक्ति को मुख्यमंत्री पद के लिए घोषित किया जाता है। जिसे उसी राज्य के राज्यपाल सपथ दिलाते है।

इस पद को सरकार के नेता कहा जाता है और यह राज्य की कैबिनेट विधानसभा के लिए सामूहिक रूप से जिम्मेदार होता है।

हमारे देश के संविधान के मुजब विधानसभा में विश्वास मत प्राप्त हो तो मुख्यमंत्री का कार्यकाल सामान्यतः अधिकतम 5 वर्ष का रहता है और इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री के कार्यकाल की संख्याओं की कोई सीमा नहीं होती। अनगिनत बार CM बन सकते है। जैसे के हमारे प्रधानमंत्री मोदीजी गुजरात के CM 5 बार रह चुके है।

हिंदुस्तान के वर्तमान CM की लिस्ट

नीचे हमने राज्यों के नाम और वर्तमान मुख्यमंत्री की नाम की सूची दी है:

राज्यों के नाम मुख्‍यमंत्री
आंध्र प्रदेशश्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी
अरूणाचल प्रदेशश्री पेमा खांडू
असमश्री सर्वानंद सोनोवाल
बिहारश्री नीतीश कुमार
छत्‍तीसगढ़श्री भूपेश बघेल
गोवाश्री प्रमोद सावंत
गुजरातश्री विजय रूपाणी
हरियाणाश्री मनोहर लाल
हिमाचल प्रदेशश्री जयराम ठाकुर
झारखंडश्री हेमंत सोरेन
कर्नाटकश्री बी.एस. येदियुरप्पा
केरलश्री पिनरई विजयन
मध्‍य प्रदेशश्री शिवराज सिंह चौहान
महाराष्‍ट्रश्री उद्धव ठाकरे
मणिपुरश्री एन बीरेन सिंह
मेघालयश्री कोनराड संगमा
मिज़ोरमश्री पीयू जोरामथांगा
नागालैंडश्री नेफ्यू रियो
ओडिशाश्री नवीन पटनायक
पंजाबश्री कैप्टन अमरिंदर सिंह
राजस्‍थानश्री अशोक गहलोत
सिक्किमश्री पीएस गोले
तमिलनाडुश्री टी ईके पलनीसामी
तेलंगानाश्री के.चंद्रशेखर राव
त्रिपुराश्री विप्लव कुमार देव
उत्‍तर प्रदेशश्री योगी आदित्य नाथ
उत्तराखंडश्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत
पश्चिमी बंगालसुश्री ममता बनर्जी

केंद्र-शासितप्रदेश के CM की लिस्ट

भारत मे कुल 8 केंद्रशासित प्रदेशों है, लेकिन इनमे से केवल 3 केंद्रशासित प्रदेशों(Union Territory) मे CM पद की जोगवाई है। जिसे आप नीचे पढ़ सकते है।

केंद्र-शासितप्रदेश मुख्यमंत्री
दिल्ली श्री अरविंद केजरीवाल
पुडुचेरी श्री वी नारायणसामी
जम्मू-कश्मीर

PM kA full form and Meaning

PM का फूल फॉर्म “Prime Minister” होता है। PM का हिन्दी भाषा मे फूल फॉर्म प्रधानमंत्री है। भारत के वर्तमान के प्रधानमंत्री “श्री नरेन्द्रभाई दामोदरदास मोदी” है।

PM ka full form in politics
PM ka full form in politics

भारतीय संविधान के अनुसार प्रधानमंत्री का पद केंद्र सरकार के कैबिनेट का प्रमुख और राष्ट्रपति का मुख्य सलाहकार होता है एवं भारतीय संघ का भी “शासन प्रमुख” होता है।

हमारे देश मे PM की नियुक्ति माननीय राष्ट्रपति के द्वारा की जाती है और मंत्री परिषद की नियुक्त भी राष्ट्रपति के द्वारा ही प्रधान मंत्री की सलाह के अनुसार की जाती है।

अभी तक हमने CM and PM full form जाना तो चलिए अब हम PM यानी की प्रधानमंत्री पद के बारेमे विस्तार से पढ़ते है…

PM बनने की चयन प्रक्रिया

भारतीय संविधान के अनुसार लोकसभा मे किसी एक पक्ष या अन्य दलों के साथ गठबंधन द्वारा चुने गए नेता को प्रधानमंत्री घोषित किया जाता है, जिसे माननीय राष्ट्रपति शपथ दिलाते है। यह पद को जनता के सीधे चुनाव द्वारा नहीं मिल शकता।

जब किसी एक पक्ष को बहुमती हासिल नहीं होती तब अन्य बड़े पक्ष के साथ समजौता करके जोभी सरकार बनाई जाती है इसे “गठबंधन की सरकार” कही जाती है।

प्रधानमंत्री बनने के लिए संसद के किसी एक गृह मे सभ्य बनना जरूरी है। यदि वह संसद के किसी भी एक गृह का सदस्य नहीं हैं तो नियुक्ति के छह महीने के अन्दर ही उसे किसी एक सदन की सदस्यता प्राप्त करनी रहेगी।

इस तरह से प्रधानमंत्री को चुना जाता है।

PM को मिलने वाली शक्तियां और अधिकार

पीएम भारत का वास्तविक नेता होने की वजह से उनको बहोत सारी शक्तियां और अधिकार मिलते है जिसे हमने स्टेप by स्टेप समजाया है:

1.शासन का मुखिया

भारत का प्रधान मंत्री सरकार का मुख्य नेता कहलाता है यानी की मुखिया होता है। हालांकि राष्ट्र का मुखिया राष्ट्रपति होता हैं, लेकिन अधिकतर कार्यकारी निर्णय PM के द्वारा ही लिए जाते हैं।

हमारे देश मे महत्वपूर्ण निर्णय लेने वाली समितियां, जैसे केंद्रीय मंत्रिमंडल, NITI आयोग आदि सभी प्रधानमंत्री की देख-रेख में ही चलती हैं।

2.भारत के प्रतिनिधि रूप से

यह अंतरराष्ट्रीय मामलों में भारत के विदेशनीति मे मुख्य भूमिका रहती है एवं यह मुख्य प्रवक्ता होते है। जैसे की आपने मोदीजी को UN की जनरल असेंबली, ISA , BIMSTEC, ASEAN जैसे संगठनों को संबोधन करते हुए देखा होगा।

3.मंत्रिमंडल( cabinet) नेता के रूप से

प्रधानमंत्री कैबिनेट के अध्यक्ष होते है और कैबिनेट मे कौनसे मंत्री को सामिल करे या हटाए जैसे अधिकार मिले हुये है। इसी वजह से मंत्री सीधे प्रधान मंत्री को रिपोर्ट करते हैं।

PM की मृत्यु या इस्तीफे की स्थिति में, मंत्रियों की पूरी परिषद को इस्तीफा देना पड़ता है।यह राष्ट्रपति द्वारा किसी मंत्री का इस्तीफा मांगकर या उसे बरखास्त करवाके हटा भी सकता है।

4.संसद नेता के रूप से

PM सदन का नेता है जिससे वह संबधित है, चाहे वह लोकसभा हो या राज्यसभा। वह किसी भी सदन मे विचार-विमर्श में भाग ले सकता है चाहे वह सदस्य ना हो।यदि prime minister चाहे तो राष्ट्रपति को लोकसभा को भंग करने की सलाह भी दे सकता है।

प्रधानमंत्री के मंत्रालय

जो भी मंत्रालय मंत्रियों में आवंटित नहीं किया जाता उसे प्रधानमंत्री अपने पास रखते है। लेकिन कुछ मंत्रालये और विभागों के प्रभारी होते ही है:

  • कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन
  • योजना मंत्रालय
  • परमाणु ऊर्जा विभाग
  • अंतरिक्ष विभाग
  • कैबिनेट की नियुक्ति समिति

PM बनने के लिए कौंनसी योग्यताए जरूरी है?(A-84)

qualification
  • भारत के नागरिक होना अनिवार्य है।
  • संसद के किसी एक गृह की सदस्यता जरूरी ।
  • यदि पीएम लोकसभा का सदस्य है तो उसकी उम्र 25 साल या उससे अधिक होनी चाहिए और यदि वह राज्यसभा का सदस्य हो तो उसे 30 साल का होना जरूरी।
  • विकृत चरित्र वाला व्यक्ति या दिवालिया घोषित ना होना चाहिए ।
  • अन्य देश की नागरिकता नहीं होनी चाहिए।
  • लाभकारी पद का कर्मचारी नहीं होना चाहिए।

प्रधानमंत्री को कौनसी सुविधाए मिलती है?

PM का पद देश के लिए महत्व का पद होने की वजह से इन्हे VVIP जैसी सुविधाए मिलती है। हमने नीचे इन्हे मिलने वाली सुविधाए की सूचिया दी है:

  1. SPG सुरक्षा (मात्र प्रधानमंत्री को ही मिलती है जिनमे 36 कमैन्डो होते है)
  2. 7 रेस कोर्स रोड वाला आधिकारिक निवास या पंचवटी
  3. विशेष एयर इंडिया वन का विमान
  4. स्पेशल कार (BMW की 750i)

PM को कितनी सैलरी मिलती है?

भारत के संविधान के अनुच्छेद 75 के अनुसार प्रधानमंत्री को Rs. 1,60,000 और अन्य भत्ते मिलते है। इस पर समय-समय पर संसोधन होता रहता है। आखिर बार 2012 मे संसोधन किया गया था,जिसे अभी तक (2020-21) नहीं हुआ है।

salary-

अभी के समय मे मिलने वाले भत्ते और सैलरी नीचे मुजब है:

सैलरी रकम रूपये मे
व्यय संबंधी भत्ता3000
रोज का भत्ता 62,000 (प्रति दिन @ 2,000)
निर्वाचन क्षेत्र का भत्ता45,000
कुल1,60,000

भारत मे जवाहरलाल नेहरू से नरेंद्र मोदी जैसे प्रधानमंत्री ने नेतागिरी की है। तो चलिए एक नजर इनपे मार लेते है।

नाम कार्यालय लेने-हटने की तिथिपार्टी
श्री नरेंद्र मोदी26 मई,2014भारतीय जनता पार्टी
डा. मनमोहन सिंह22 मई , 2004-मार्च, 2004भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
श्री अटल बिहारी वाजपेई19 मार्च, 1998-मार्च, 2004भारतीय जनता पार्टी
इन्द्र कुमार गुजराल21 अप्रैल, 1997-मार्च, 1998जनता दल
श्री एच. डी. देव गौड़ा1 जून, 1996-अप्रैल, 1997जनता दल
श्री अटल बिहारी वाजपेई16 मई, 1996-जून, 1996भारतीय जनता पार्टी
श्री पी.वी. नरसिंह राव21 जून,1991-मई, 1996काग्रेंस (आई)
श्री चन्द्र शेखर10 नवंबर, 1990-जून, 1991जनता दल (एस)
विश्वनाथ प्रताप सिंह2 दिसंबर, 1989-नवंबर, 1990जनता दल
श्री राजीव गाँधी31 अक्टूबर, 1984-दिसंबर,1989काग्रेंस (आई)
श्रीमती इंदिरा गांधी14 जनवरी, 1980-अक्टूबर 1984काग्रेंस (आई)
श्री चरण सिंह28 जुलाई, 1979-जनवरी, 1980जनता पार्टी
श्री मोरारजी देसाई24 मार्च, 1977-जुलाई, 1979जनता पार्टी
श्रीमती इंदिरा गांधी24 जनवरी, 1966-मार्च, 1977कांग्रेस
श्री गुलजारी लाल नंदा(कामचलाऊ)11 जनवरी, 1966-जनवरी, 1966कांग्रेस
श्री लाल बहादुर शास्त्री9 जून, 1964-जनवरी, 1966कांग्रेस
श्री गुलजारी लाल नंदा(कामचलाऊ)27 मई, 1964-जून, 1964कांग्रेस
श्री जवाहर लाल नेहरू15 अगस्त, 1947-मई,1964कांग्रेस

अंतिम शब्द

इस पोस्ट मे हमने CM and PM full form, CM और PM का अर्थ, भारतके वर्तमान राज्यों के CM, प्रधानमंत्री बनने योग्यता, सैलरी, लायकात आदि पढ़ा।

मै आशा रखता हु की आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आपका ज्ञान बढ़ा होगा।

आपको CM का फूल फॉर्म या PM का फूल फॉर्म से अनुरूप प्रॉब्लेम हो तो कमेन्ट मे सवाल लिख सकते है हम उसका उत्तर जरूर देंगे और अपने दोस्तों और परिवार के सभ्यों के साथ facebook, instagram, whats app पर share करना न भूले।

Leave a Comment