CBI ka full form in Police (Hindi) |CBI History| CBI kya hai

पुलिस का कार्य चोरी, लूँट-फाट, डकैती, बलात्कार, धोखा-धड़ी रोकना आदि कार्यों है। लेकिन जब यह कार्यों करने के लिए पुलिस के हाथ छोटे पड जाए या कोई बड़ा मामला हो तब पुलिस से बड़ी संस्था को सत्ता दी जाती है।

भारत सरकार ने ऐसे स्पेशल मामलों को निपटने के लिए कुछ एजेंसी को गठित किया है। इनमे से ही एक है CBI

तो दोस्तों आपको अब पता चल गया होगा की आजके आर्टिकल मे CBI ka full form क्या है?, CBI full form in Hindi, CBI के कार्य कौनसे है?, CBI की स्थापना कब हुई, आदि जानने वाले है।

CBI ka full form क्या है?

CBI ka full form “Central Bureau of Investigation” होता है। यह एक भारत सरकार की मुख्य अन्वेषण संस्था है।

CBI मुख्यत: भ्रष्टाचार निरोधक अपराध, बड़े आर्थिक अपराध, विशेष अपराध, Suo Moto मामले, बैंक धोखाधड़ी एवं साइबर अपराध आदि की जांच पड़ताल करती है।

CBI की माहिती शॉर्ट मे :

CBI का फूल फॉर्म Central Bureau of Investigation
CBI की स्थापना 1941 मे (Special Police Establishment नामसे)
मुख्यालय नई दिल्ली
किस मंत्रालय के नीचे आती है?Ministry of Personnel, Public Grievances and Pensions
वर्तमान अध्यक्ष श्री ऋषि कुमार शुक्‍ला
आदर्श वाक्य Industry, Impartiality, Integrity (उद्योग, निष्पक्षता, अखंडितता)
आधिकारिक साइट cbi.gov.in

CBI full form in Hindi

CBI का हिन्दी भाषा मे फूल फॉर्म “केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो” है। सीबीआई हमारे देश की नोडल पुलिस एजेंसी है और यह इंटरपोल की ओर से इसके सदस्य देशों में अन्वेषण संबंधी समन्वय भी करती है।

यह एजेंसी का अपराध सिद्धि दर 65 से 70% तक है इसलिए इसे दुनिया की सर्वोच्च इन्वेस्टीगैशन संस्था मे गिना जाता है।

इसी वजह से जो भी मामले अनसुलजे होते है इसे यही सुलजाती है।

CBI ke kary

यह खास मामले की जांच पड़ताल करती जिसे हमने नीचे लिखा है:

आर्थिक मामले मे

आर्थिक मामलों मे मुख्यत: वित्तीय घोटाले और गंभीर आर्थिक धोखाधड़ी के मामले जिसमें नकली भारतीय मुद्रा, बैंक धोखाधड़ी एवं साइबर अपराध, आयात-निर्यात और विदेशी मुद्रा विनिमय उल्लंघन, बड़े पैमाने पर मादक पदार्थों, पुरातन अवशेषों, सांस्कृतिक संपत्ति एवं अन्य विनिषिद्ध वस्तुओं की तस्करी आदि मामले शामिल हैं।

भ्रष्टाचार निरोधक मामले मे

भारत सरकार के, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, भारत सरकार के स्वामित्व व नियंत्रण वाले निगमों या निकायों के लोक अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत दर्ज मामले।

चर्चित मुद्दे मे

जैसे की कोई सेलिब्रिटी, उद्योगपति, राजकारणी जैसे खास व्यक्ति के मृत्यु पश्चात। इसके अलावा राज्य सरकारों के निवेदन पर या उच्चतम न्यायालय एवं उच्च न्यायालयों के निर्देश पर भारतीय दंड संहिता एवं अन्य कानून के अंतर्गत दर्ज गंभीर, सनसनीखेज एवं संगठित अपराध, जैसे-आतंकवाद, बम विस्फोट, फिरौती के लिये अपहरण और माफिया/अंडरवर्ल्ड द्वारा किये गए जुर्म।

CBI ka itihas (History)

अंग्रेजों द्वारा दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान सन 1941 में ब्रिटिश भारत के युद्ध विभाग में एक Special Police Establishment/ SPE (विशेष पुलिस स्थापना) का गठन किया गया था। इसका मुख्य कार्य युद्ध से संबंधित खरीद मामलों में रिश्वत और भ्रष्टाचार के आरोपों का इन्वेस्टिगैशन हो सके।

बाद मे दिल्ली विशेष पुलिस स्थापना अधिनियम (Delhi Special Police Establishment- DSPE Act), 1946 को लागू करके भारत सरकार के विभिन्न विभागों/संभागों में भ्रष्टाचार के आरोपों के अन्वेषण हेतु एक एजेंसी के रूप में इसकी औपचारिक शुरुआत की थी और जांच करने की सत्ता मिली।

भारत की आजादी के बाद भारत सरकार द्वारा साल 1963 मे CBI का गठन भारत की रक्षा से संबंधित गंभीर अपराधों, उच्च पदों पर भ्रष्टाचार, गंभीर धोखाधड़ी, ठगी व गबन और सामाजिक अपराधों (विशेष रूप से आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी, कालाबाज़ारी और मुनाफाखोरी) के जांच पड़ताल के उदेश्य के लिए हुआ।

इसके बाद इसे थोड़ी ज्यादा शक्ति प्रदान की जैसे की चर्चित हत्याओं, अपहरण, विमान अपहरण, चरमपंथियों द्वारा किये गए अपराध आदि।

CBI अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्ति

CBI के अध्यक्ष की नियुक्ति साल 2014 तक Delhi Special Police Establishment act, 1946 के आधार पर की जाती थी।

बाद मे 2014 मे लोकपाल अधिनियम ने CBI अध्यक्ष की नियुक्ति के लिये एक समिति का सुजाव दिया जिसे नीचे हमने लिखा है:

अध्यक्ष – भारत के प्रधानमंत्री

अन्य मेम्बर्स – विपक्ष के नेता या सबसे बड़े विपक्षी दल का नेता, भारत का मुख्य न्यायाधीश या उनके अनउपस्थिति मे सर्वोच्च न्यायालय के अन्य न्यायाधीश

साल 2003 के विनीत नारायण मामले में सर्वोच्च न्यायालय की सिफारिश पर DSPE अधिनियम को संशोधित किया गया। साथ ही एक समिति द्वारा केंद्र सरकार को CBI निदेशक की नियुक्ति से संबंधित सिफारिश भेजी गई जिसमें CVC के प्रतिनिधि तथा गृह मंत्रालय एवं कार्मिक और लोक शिकायत मंत्रालय के सचिव सदस्य के रूप में शामिल थे।

हमने cbi ka full form से उनके सदस्यों की नियुक्ति के बारेमे जाना अब हम सीबीआई के वर्ल्ड वाइड फूल फॉर्म जानेंगे।

CBI full form listcategory
Capital Bank InternationalBusiness » General Business
Central Bureau of InvestigationGovernmental » INDIA
Chicago Bridge & Iron CompanyStock market » NYSE Symbols
Confidential Business InformationInvestment » General
Caribbean Basin InitiativeBusiness » International Investment
Computer Based InstructionGovernmental » Military
Colorado Bureau of InvestigationGovernment » State & Local
China Burma IndiaGovernmental » Military
Community Based InstructionCommunity » Educational
Custom Business InteriorsBusiness » Companies & Firms
Capital Bank InternationalBusiness » General
Critical Behavior InventoryMedical » Physiology
Clean Bad IdleGovernment » Transportation
Continuous Brainstorming InvestigationsCommunity » Schools
Comic Book InternetInternet
Cyborg Bureau of IntelligenceMiscellaneous » Science Fiction
Competency Based InterviewMiscellaneous » Unclassified
Caused Bodily InjuryMedical » Hospitals
Career Based InterventionCareer » Investigation
Community Boating IncUnknown » Community
Center for BiologicMedical » Biology
Center for Biologic ImagingGeneral » Photography & Imaging
Central Bank of IndiaIndian bank » Banking

अंतिम बात

इस आर्टिकल मे हमने CBI ka full form क्या है?, CBI full form in Hindi, CBI के कार्य, CBI की history, CBI bodyआदि समजा।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको CBI फूल फॉर्म के बारेमे और कुछ पूछना है तो नीचे comment जरूर करे, हम इसका अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram,twitter पर भी जरूर share करे।

Leave a Comment