BRICS ka full form kya hai? | BRICS kya hai? | BRICS History

विश्व की अर्थव्यवस्था आजके समय मे निर्णायक परिवर्तन के दौर से गुजर रही है। इनमे महत्वपूर्ण देशों को साथ मिलकर चलना चाहिए।

क्युकी कोई भी देश के विकास मे विदेशनीति का अहम भाग रहता है। ऐसा ही एक संगठन है BRICS। जिसके बारेमे हम बात करने वाले है।

लेकिन दोस्तों क्या आपको BRICS ka full form , BRICS के उदेश्य, BRICS kya hai?, BRICS के सम्मेलन, ब्रीक्स स्थापना आदि पता है?

यदि नहीं पता तो चिंता करने की बात नहीं है हम इस आर्टिकल मे BRICS के बारेमे सबकुछ बताने वाले है।

BRICS ka full form kya hai?

BRICS का फूल फॉर्म नीचे मुजब है:

B – Brazil

R – Russia

I – India

C – China

S – South Africa

BRICS विश्व की तेजी से ग्रोथ हो रही ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका पाँच देशों का समूह माना जाता है। जिसे वर्ष 2009 मे गठित किया गया था।

यह किसी भी संधि के तहत नहीं स्थापित होने की वजह से इसे सामील देशों का एकीकृत प्लेटफॉर्म माना जाता है। जिसके अबतक 11 शिखर सम्मेलन हो चुके है। अंतिम 11वा सम्मेलन जुलाई 2019 मे ब्राजील मे हुआ था।

BRICS kya hai?

ब्रीक्स विश्व की तेजी से ग्रोथ हो रही ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका का समूह है। ब्रीक्स की माहिती शॉर्ट मे:

नाम BRICS
गठन2009
गठन समय देश4 (ब्राजील, रूस, चीन और भारत)
उदेश्यस्थायी, न्यायसंगत और पारस्परिक रूप से लाभकारी विकास करना
आधिकारिक भाषाये हिन्दी, पोर्तुगीज़, रशियन, चाइनीज, इंग्लिश
प्रथम सम्मेलनरूस (2009)
अंतिम सम्मेलनब्राजील (2019)(2020 का रूस मे होने वाला POSTPONED)
आधिकारिक वेबसाइटinfobrics.org

BRICS के उदेश्य कौनसे है?

  • ब्रीक्स का मुख्य उदेश्य यह है की विश्व में अमेरिका डॉलर एक प्रमुख मुद्रा है और ब्रिक्स देशों का लक्ष्य है कि वो इस मुद्रा की जगह अन्य मुद्राओं का उपयोग कर उन मुद्राओं को भी विश्व स्तर पर मजबूत किया जाए।
  • भारत, ब्राजील, साउथ अफ्रीका जैसे विकासशील देशों के लिए एक विशेष व्यापार ब्लॉक बनाया जा सके।
  • यह समूह विभिन्न वित्तीय उद्देश्यों के साथ एक नए और आशाजनक राजनीतिक मुद्दे मे भी आगे आए ऐसा प्रयत्नशील रहे।

BRICS ka itihas | History of BRICS

ब्रीक्स गठन समय मात्र चार देश शामिल थे बादमे 2010 मे दक्षिण आफ्रिका जुड़ा। लेकिन ब्रीक्स की नीव रखने का विचार वर्ष 2001 में Goldman Sachs के अर्थशास्री जिम ओ’ नील द्वारा ब्राज़ील, रूस, भारत और चीन उभरती अर्थव्यवस्था का समूह बनाने होना चाहिए ऐसा उन्होंने एक रिपोर्ट मे लिखा था।

बाद मे थोड़े साल बाद UN के वार्षिक सम्मेलन मे इसे गठित करने की बात-चित हुई।

आखिर मे भारत, चीन, रूस और ब्राजील ने 2009 मे समूह स्थापित करके इसी साल मे ही पहला शिखर सम्मेलन रूस के शहर येकतेरिनबर्ग मे आयोजित किया।

भारत ने अब तक 2 शिखर सम्मेलन का सफल आयोजन किया है जिनमे 2012 मे चौथा सम्मेलन नई दिल्ली और 2016 मे आठवा गोवा मे आयोजन किया था।

BRICS के शिखर सम्मेलन लिस्ट

ब्रीक्स के अबतक शुरू से 2019 तक 11 सम्मेलन हो चुके है। 2020 मे रूस मे होनेवाले सम्मेलन को COVID-19 की वजह से रुका दिया गया है जिसे नॉर्मल स्थिति होने के बाद रखा जाएगा।

साल 2009 से 2019 के शिखर सम्मेलन की सूची नीचे मुजब है:

सम्मेलन क्रमांकवर्षआयोजित देश का नाममेजबान नेता महत्वपूर्ण बाते
116 जून, 2009रूसदिमित्री मेदवेदेव
215 अप्रैल, 2010ब्राजीललुइज इनासियो लूला दा सिल्वा
314 अप्रैल, 2011चीनहू जिंताओब्रॉड विज़नशेयर्ड प्रोस्पेरिटी
429 मार्च, 2012भारतमनमोहन सिंहवैश्विक स्थिरता, सुरक्षा और समृद्धि के लिए ब्रिक्स भागीदारी
526-27 मार्च 2013दक्षिण अफ्रीकाजैकब जुमाब्रिक्स और अफ्रीका: विकासएकीकरण और औद्योगिकीकरण के लिए साझेदारी
614-17 जुलाई 2014ब्राजीलदिलमा रौसेफसमावेशी विकास: सतत समाधान
78-9 जुलाई 2015रूसव्लादिमीर पुतिनब्रिक्स भागीदारी – वैश्विक विकास का एक शक्तिशाली कारक
815-16 अक्टूबर 2016भारतनरेंद्र मोदीउत्तरदायी, समावेशी और सामूहिक समाधान बनाना
93-5 सितंबर 2017चीनशी जिनपिंगब्रिक्स: एक उज्ज्वल भविष्य के लिए मजबूत साझेदारी
105-27 जुलाई 2018दक्षिण अफ्रीकासिरिल रामाफोसाअफ्रीका में ब्रिक्स

Brics के सहयोग क्षेत्र कौनसे है?

1. आर्थिक सहयोग – इस सदस्य देशों के बीच समझौतों से आर्थिक और व्यापारिक सहयोग, नवाचार सहयोग, सीमा शुल्क सहयोग, ब्रिक्स व्यापार परिषद, आकस्मिक रिज़र्व समझौते और न्यू डेवलपमेंट बैंक के बीच रणनीतिक सहयोग आदि बनाए रखना।

2. राजनीतिक और सुरक्षा – सुरक्षा और रणनीतिक सहयोग से शांति, सुरक्षा, विकास और अधिक न्यायसंगतता बनाए रखना।

3. पीपल-टू-पीपल सहयोग – सदस्य के बीच संस्कृति, खेल, शिक्षा, फिल्म आदि क्षेत्रों मे लोगों के बीच P to P सहयोग बनाए रखना।

4. स्वास्थ्य सहयोग – सभी देश सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं जैसे- संक्रामक रोगों की घटना, चिकित्सा सेवाओं और दवाओं तक समान पहुँच की कमी आदि की पहचान संभव हो इसके लिए सहयोग दे।

BRICS की अपनी बैंक NDB

ब्रीक्स का 4th शिखर सम्मेलन के दौरान विश्व मे विकासशील देशों में बुनियादी ढाँचा और सतत विकास परियोजनाओं की अर्थव्यवस्था के आधार पर NDB यानि की New Development Bank के गठन का विचार रखा गया था।

बाद मे 6th ब्राजील सम्मेलन मे NDB स्थापित किया गया। जिसका मुख्यालय चीन के संघाई शहर मे है।

NDB का कार्य स्वच्छ ऊर्जा, परिवहन, अवसंरचना, सिंचाई, स्थायी शहरी विकास और सदस्य देशों के बीच आर्थिक सहयोग देना आदि सामील है।

हमने BRICS ka full form से NDB तक पढ़ा।

अंतिम बात

इस आर्टिकल मे हमने BRICS ka full form क्या है?, BRICS के उदेश्य, BRICS kya hai?, BRICS के सम्मेलन, ब्रीक्स स्थापना आदि आदि जाना।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको BRICS फूल फॉर्म के बारेमे और कुछ पूछना है तो नीचे comment जरूर करे, हम इसका अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर भी जरूर share करे।

Leave a Comment