BDO ka full form kya hai? | BDO kaise bane?

जैसे ही आजकी पेढ़ी कॉलेज खतम करते है उनका एकमात्र गोल होता है सरकारी नौकरी किसी भी तरह से लेना। जैसे ही यह लोग कैरीयर बनाने के बारे में सोचने की स्थिति में पहुँचते है उन्हें सिर्फ एक ही चीज दिखती है वह है सरकारी नौकरी।

सरकारी जॉब्स के कई फायदे, नुकशान से कई ज्यादा है इसलिए हर युवा का एक सपना होता है की ले तो सरकारी नौकरी ही। ऐसे मे BDO जैसी पोस्ट मिल जाए तो सोने पे सुहागा जैसी बात बन जाती है।

लेकिन दोस्तों BDO जैसी पोस्ट हासिल करना इतना भी आसान नहीं है। यदि आप तन-मन से हार्डवर्क, सही सलाह, योग्य टाइम मेनेजमेंत करते हो तो आप BDO बन पाएंगे।

इस आर्टिकल मे हम BDO kaise bane?, BDO ka full form क्या होता है?, BDO की सैलरी, BDO का सिलबस आदि समजने वाले है तो आप इस पोस्ट को अंत तक पढे।

BDO ka full form

BDO ka full form “Block Development Officer” होता है। BDO हर एक राज्यों मे ब्लॉक या तालुका का आधिकारिक प्रभारी होता है।

राज्यों मे विकास खंडों का निर्माण अनेक पंचायतों को मिलकर होता है, इनके मुख्यालय को सामुदायिक विकास केंद्र कहा जाता है।

विकास खंड और सामुदायिक विकास केंद्रो के सहयोग से जनविकास से सबंधित जन कल्याणकारी योजनाओ को लागू किया जाता है, इसी विकास खंड के प्रभारी अधिकारी को BDO यानी की block Development Officer कहा जाता है।

इस पोस्ट को यदि आपको हासिल करना है तो आपके स्टेट की PCS परीक्षा पास करनी पड़ेगी। जिसे राज्य की State Public Service Commission द्वारा कन्डक्ट किया जाता है।

BDO full form in Hindi

BDO का हिन्दी भाषा मे फूल फॉर्म “खंड विकास अधिकारी” होता है। जिस भी राज्यों ब्लॉक को तालुका से जाना जाता है वहा इस पद को TDO कहा जाता है।

TDO का फूल फॉर्म Taluka Development Officer होता है। जिसे हिन्दीमे तालुका विकास अधिकारी कहा जाता है।

आपके मन मे यह सवाल जरूर घूम रहा होगा की आखिर BDO कैसे बनते है? तो चलिए दोस्तों इसे जानते है…

BDO kaise bane ?

अगर एक बड़ा अधिकारी बनना है तो इसके जैसा सोचना शरू करना पड़ेगा। क्युकी सोच बड़ी रखोगे तभी बड़े पद पर पहोचेंगे।

BDO kaise bane
BDO kaise bane

BDO बनने के लिए अपने राज्य की SPSC(state public service commision) की PCS परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ेगी। यानी की आप UP से हो तो UPPSC की PCS इग्ज़ैम पास करनी पड़ेगी।

Block Development Officer बनने के लिए इसकी Selection Process कैसे होती है इसे समजना जरूरी है।

BDO ki selection process kya hai?

इसके लिए आपको नीचे के तीन स्टेज को सफलतापूर्वक पार करने पड़ेगे।

  1. Preliminary exam (प्रारंभिक परीक्षा)
  2. main exam (मुख्य परीक्षा)
  3. interview (साक्षात्कार)

Preliminary exam (प्रारंभिक परीक्षा)

भारत के मुख्यत सभी राज्यों मे प्राथमिक परीक्षा मे 2 पेपर आते है और यह दोनों पेपर MCQ आधारित होते है।

पेपरकुल सवालकुल अंकसमय
GS – 11502002 hr
GS – 21002002 hr

लेकिन कुछ राज्यों मे 200 सवालों और अंक के दो पेपर होते है जैसे की गुजरात मे लेकिन बिहार और राजस्थान मे प्राथमिक मे 150 प्रश्नों का 1 ही पेपर होता है और कुल अंक 200 होते है।

यदि आप prelim इग्ज़ैम मे सफल हो जाते हो तो ही आपको मुख्य परीक्षा मे बैठने को मिलेगा।

Main exam (मुख्य परीक्षा)

मुख्यत सभी राज्यों मे syllabus समान ही होता है । इस पोस्ट मे हम UPPSC का मुख्य परीक्षा का syllabus लेंगे। आपके स्टेट मे अलग भी हो सकता है।

पेपर का नामकुल अंकसमय
General Hindi1503 hours
Essay1503 hours
General Studies – I2003 hours
General Studies – II2003 hours
General Studies – III2003 hours
General Studies – IV2003 hours
Optional Subject – Paper I2003 hours
Optional Subject – Paper II2003 hours
Total15003 hours

Interview (साक्षात्कार)

यदि उम्मेदवार प्राथमिक और मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते है तो उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इसमें सामान्य जागरूकता, चरित्र, अभिव्यक्ति, सरलता, शक्ति और व्यक्तित्व से सम्बंधित प्रश्न-जवाब होते है।

यह तीनों प्रोसेस बाद आयोग द्वारा मेरिट लिस्ट निकाला जाता है जिसमे मेरिट लिस्ट मे आए अभ्यर्थियों का document वेरीफिकेशन के लिए बुलाए जाते है। बाद मे रैंक के आधार पर पोस्ट मिलती है।

BDO बनने की योग्यता (qualification)

qualification
  • उम्मेदवार भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • इस परीक्षा में सम्मिलित होनें के लिए उम्मेदवार के पास मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक(graduation) उत्तीर्ण होना आवश्यक है लेकिन वह स्नातक के अंतिम वर्ष मे हो तो वह फॉर्म भर सकता है।
  • वह किसी भी stream से स्नातक होना चाहिए भले ही वह B. A. से हो या B. Tech से हो परीक्षा दे सकते है।

BDO ka syllabus

Preliminary exam का अभ्यासक्रम

  • History, Art & Culture, literature ,Tradition & Indian history
  • Geography of World and India
  • Geography
  • Indian Constitution, Political system and Governance
  • Political and administrative system of Rajasthan
  • Economic
  • Science & Technology
  • Reasoning and Mental ability
  • Current Affairs

main exam का अभ्यासक्रम

  • Literature and Culture, Social sphere, Political sphere
  • Science, Environment and Technology, Economic Sphere Agriculture, Industry, and Trade
  • History of Indian Culture will cover the salient aspects of Art Forms, literature and Architecture from ancient to modern times
  • The Freedom Struggle
  • Salient features of Indian Society and culture
  • Role of Women in society and women’s organization, population and associated issues
  • Social empowernment, communalism, regionalism & secularism
  • Distribution of major natural resources of World- Water, Soils, Forests in reference to South
  • Oceanic resources of India and their potential
  • Indian Constitution के topics
  • Economics के topics
  • Science and Technology के topics
  • geography के topics
  • current affairs

इसके अलावा बहोत सारे अन्य टोपिक्स भी है जिसे आप अपने आयोग की official site मे जाके देख सकेंगे।

BDO बनने के आयु सीमा

इसके लिए उम्मेदवार की आयु 21 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होनी जरूरी है।

इनमे OBC 3 साल और SC एण्ड ST उम्मेदवार को 5 साल की छूट मिलती है। इसके अलावा एक्स सर्विसमेन, विधवा, phw आदि को भी नियम के हिसाब से काफी छूट-छाट मिल जाती है।

BDO के कार्य (work profile)

  • ब्लॉक स्तर पर ब्लॉक देवलोपमेंट ऑफिसर अपने ब्लॉक कार्यालय का हेड होता है और इनके नीचे ही ब्लॉक के कार्य होते है।
  • इन्हे अपने ब्लॉक वाले क्षेत्र की सीमा के अंदर आने वाले अभी विकास कार्यों पर निगरानी रखनी होती है।
  • यह गावों के विकास के लिए लाई गई योजनाओ से जुड़े कामों को संभालके पूरे करने होते है।
  • इन्हे राज्य व केंद्र सरकार के विभिन्न अधिकारियों के साथ Block Level पर किये जा रहे कार्यों व नीतियों के Execution में सहायता करनी होती है।
  • BDO को अधिकारियों, तकनीकी कर्मचारियों, एवं मन्त्रालयिक कर्मचारियों की एक टीम द्वारा सहायता दी जाती है, जो विभाग को सौंपे गए विभिन्न विकास कार्यों के उचित और सफल निष्पादन के लिए जिम्मेदार है।

BDO बनने के लिए सलाह

  • सबसे पहले आपको BDO का पूरा syllabus रट लेना चाहिए ताकि अंदाजा आ जाए की क्या क्या पढ़ना है और क्या नहीं? बाद मे जो भी पिछले 5 साल के पेपर्स को बारीकी से हल करना चाहिए ताकि पता चले की अपना स्टेट कमिशन कैसे प्रश्नों निकालता है।
  • सभी अभ्यार्थी के मनमे यह प्रश्न जरूर होता है की क्या पढे? तो इसका सरल उत्तर है आपने जो भी std 6 से 12 तक की आपके बोर्ड की और NCERT की geography, history, maths, science, economics की किताबे पढ़ना चाहिए।
  • यह सभी मे आपको अपने स्टेट की माहिती होनी बहुत आवश्यक है। बहुत सारे सवाल इनमे से निकलते है।
  • इनमे एक विषय जो जरूरी है वह Current Affairs यानि की नवीनतम घटनाक्रम और अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रम से संबंधित कई प्रश्न पूछे जाते है,इसके लिए आपको देश की नवीनतम घटनाक्रम और अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रम की जानकारी समय से ही कर लेनी है |
  • आप इससे अपडेट रहने के लिए प्रति दिन एक बढ़िया स दैनिक अखबार का अध्ययन कर सकते है | इसके अतिरिक्त आपको प्रतिदिन न्यूज चैनल देखना होगा इससे आपको समय रहते ही दैनिक घटनाक्रम की जानकारी प्राप्त हो जाएगी |
  • यह सब करके आप पूरे हार्ड वर्क and स्मार्ट वर्क, पैशन से पढ़ोगे तो जरूर उत्तीर्ण होंगे।

BDO को मिलने वाली सैलरी

हर राज्यों का अपना राज्य लोक सेवा आयोग (State Public Service Commission) द्वारा तक की गई सैलरी दी जाती है।

BDO की सैलरी Rs. 9300से Rs. 34,800 तक दी जाती है। इसके अतिरिक्त ग्रैड पे और अन्य सुविधा भी मिलती है। यह राज्य के आधार पे अलग भी हो सकती है।

हमने BDO ka full form से लेके BDO को मिलने वाली सैलरी तक तकरीबन सब जान लिया। अब हम कुछ BDO के वर्ल्ड वाइड फूल फॉर्म जानेंगे।


Battle Dress Overgarment
Bandung, Indonesia – Husein Sastranegara
Behavior Detection Officer
Bi-Directional Override
Big Day Out
Big Dumb Object
Binder Dijke Otte
Blanket Delivery Order
Block Development Office
Block Development Officer
Bomb Disposal Officer
Boom Defense Officer
Bordeaux Danse Orientale
British Darts Organisation
Building Digital Opportunities
Bunds, DSL, OAT
Business Development Objective
Business Development Opportunity
Business Document Object

अंतिम बात

इस आर्टिकल मे हमने BDO kaise bane?, BDO ka full form क्या होता है?, BDO full form in Hindi, BDO की सैलरी, BDO का सिलबस आदि समजा।

यह पोस्ट कैसी लगी और आपको BDO फूल फॉर्म के बारेमे और कुछ पूछना है तो नीचे comment जरूर करे, हम इसका अवश्य उत्तर देंगे। इस पोस्ट को आप facebook, telegram, Whatsapp, instagram पर भी जरूर share करे।

Leave a Comment